logo

धमकियों से भय के साए में जी रहा परिवार: अजैब सिंह

मीडिया से रू-ब-रू होकर सुनाई दास्तां, सरकार व पुलिस महकमे से न्याय की गुहार
 
धमकियों से भय के साए में जी रहा परिवार: अजैब सिंह
WhatsApp Group Join Now
सिरसा। मई 2021 में आरोपी गांव मलड़ी निवासी संतोख सिंह व उसके साथी लूट के इरादे से उसके घर में आए थे और विरोध करने पर उसकी पत्नी की गोली मारकर हत्या कर दी थी। आरोपियों ने उसपर झूठा आरोप लगाकर उसके खिलाफ भी पुलिस में मामला दर्ज करवा दिया था, लेकिन न्यायाधीश के कारण वह किसी तरह केस से बाहर निकल गया। तभी से मामला कोर्ट में विचाराधीन है। आरोपी का भाई राजनीतिक पहुंच रखता है और अपने भाई को निर्दोष साबित करने के लिए बार-बार उसे धमकियां दे रहा है। जिसके कारण उसका परिवार भय के साए में जी रहा है। उक्त आरोप गांव फग्गू निवासी अजैब सिंह ने मीडिया से रू-ब-रू होते हुए आरोपी संतोख सिंह के भाई निर्मल सिंह मलड़ी पर लगाए। अजैब सिंह के साथ उसकी माता, दो बेटियां भी मौजूद थीं। अजैब सिंह ने कहा कि उसके तीन बेटियां व परिवार में उसकी माता है। पिता की कुछ साल पहले मौत हो चुकी है। पीडि़त ने बताया कि मई 2021 में संतोख सिंह लूटपाट के इरादे से उसके घर में घुस आया। उसकी पत्नी के विरोध करने पर उसे गोली मार दी। आरोपी ने पुलिस में झूठा बयान देकर पत्नी की हत्या का आरोप लगाकर उस पर केस दर्ज करवा दिया। पुलिस ने भी उसे काफी टॉर्चर किया। कोर्ट में गवाही के दौरान न्यायाधीश ने उसकी सुनवाई की और किसी तरह वह पुलिस के चंगुल से आजाद हुआ। आरोपी संतोख सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। मामला कोर्ट में अभी विचाराधीन है। अब आरोपी संतोख सिंह का भाई निर्मल सिंह मलड़ी, जोकि राजनीतिक दबाव डलवाकर उनपर दबाव बना रहा है। यही नहीं उसके घर में बार-बार कुछ लोगों को भेजकर राजीनामा न करने पर परिवार को जान से मारने की धमकियां दी जा रही है, जिससे पूरा परिवार भय के साए में जीने को मजबूर है। स्थानीय पुलिस से लेकर बड़े अधिकारियों व सीएम को भी शिकायत दी गई, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। पीडि़त ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर उसके साथ किसी प्रकार की अप्रिय घटना होती है तो इसके लिए निर्मल सिंह मलड़ी व उसके साथी जिम्मेदार होंगे। वहीं पीडि़त परिवार ने पुलिस व सरकार से गुहार लगाई कि उन्हें न्याया दिलाया जाए, ताकि वे चैन से अपना जीवन बसर कर सकें।