logo

नया साल निरंतर आगे बढ़ने का देता है संदेश : प्रोफेसर ढींडसा

 
नया साल निरंतर आगे बढ़ने का देता है संदेश : प्रोफेसर ढींडसा
WhatsApp Group Join Now

सिरसा: जेसीडी विद्यापीठ के महानिदेशक एवं अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त वैज्ञानिक डॉक्टर कुलदीप सिंह ढींडसा ने नए साल पर सभी को अपनी तरफ शुभ कामनाएं देते हुए कहा कि नया साल यह केवल एक नई शुरुआत ही नहीं, यह हमें निरंतर आगे बढ़ने की, नित नया कुछ न कुछ सीखने की सीख भी देता है। नया साल हमें नई परियोजनाएं शुरू करने के लिए प्रेरित करता है और हमें अपना जीवन नए उत्साह और आनंद के साथ जीने की ऊर्जा देता है। नए साल में हम पिछले साल की अपनी गलतियों से सीखते हैं, नया संकल्प या शपथ लेते हैं और पूरी ऊर्जा के साथ अपने काम को पूरा करने में लग जाते हैं, जिससे हमें सफलता मिलती है। यह एक त्योहार के समान है जो हमारे अंदर नई ऊर्जा स्थापित करता है, जिससे हमारे जीवन में नए साल का महत्व बढ़ जाता है।हमें पिछले साल के खत्म होने पर दुखी नहीं होना चाहिए, बल्कि नए साल को बड़े उत्साह और खुशी के साथ अपनाना चाहिए। हमें बीतते समय पर चिंतन करने, संभावनाओं को अपनाने और उनके परिणामस्वरूप अपने जीवन को बेहतर बनाने का प्रयास करने के लिए तत्पर रहना चाहिए।

 

डॉक्टर ढींडसा ने विद्यार्थियों के लिए अपने संदेश में कहा कि एक विद्यार्थी को हमेशा एक बात याद रखनी चाहिए कि आलस्य आपका सबसे बड़ा दुश्मन है और कठिन परिश्रम आपका सबसे अच्छा दोस्त है। नए साल 2024 के शुभ अवसर पर आप एक प्रण लें कि आप अपनी पढ़ाई को कभी भी कल पर नहीं छोड़ेंगे । यह नए साल का आपके लिए सबसे बेहतरीन डिसीजन रहेगा। नववर्ष के अवसर पर मेरा सभी विद्यार्थियों  को एक संदेश है कि आप अपनी किसी भी एक बुरी आदत को छोड़ें तथा उसकी जगह नया कौशल सीखें। एक दिन यह आपकी जिंदगी बदल देगा। हमेशा याद रखें कि हर समस्या अपने आप को साबित करने के लिए एक चुनौती है। अगर आप यह कर लेते हैं तो आप एक नई स्किल विकसित कर लेते हैं। प्रिय विद्यार्थियों , आपके पास दुनिया को बेहतर बनाने की बड़ी जिम्मेदारी है क्योंकि आप ही वह विद्यार्थी हैं जो कल दुनिया को बेहतर बना सकते हैं। सभी को नए साल की शुभकामनाएं ।जेसीडी विद्यापीठ के जन संपर्क निदेशक प्राचार्य डॉ जय प्रकाश ने भी भावी अध्यापक वर्ग और विद्यार्थियों को नए साल की शुभ कामनाएं प्रेषित करते हुए अपने संदेश में कहा कि हमेशा खुद पर विश्वास रखें। आपके पास किसी भी काम को करने की क्षमता है चाहे वह कठिन हो या आसान। अपने सपनों को साकार करने के लिए कड़ी मेहनत करना ना भूलें। खुद को पहले की तुलना में एक बेहतर इंसान बनाने का प्रयास करें और विकसित भारत बनाने के लिए अपने विद्यार्थियों में नए नए विचारों को विकसित करने का अवसर प्रदान करें।