logo

नशे के खिलाफ जंग जीतने के लिए खेलों को बढ़ावा देना जरूरी - डॉ अजय सिंह चौटाला

युवाओं को नशे से दूर रखने के लिए क्रिकेट के बाद अब कबड्डी प्रतियोगिता करवाएगी जेजेपी – अजय चौटाला

 
drugs
WhatsApp Group Join Now

सिरसा। जननायक जनता पार्टी द्वारा युवाओं को नशे से दूर रखने के उद्देश्य से शुरू करवाई गई देश की सबसे बड़ी ग्रामीण क्रिकेट कॉस्को टूर्नामेंट का समापन हो गया है। प्रतियोगिता के समापन कार्यक्रम में जेजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ अजय सिंह चौटाला ने कहा कि नशे के खिलाफ जंग जीतने के लिए खेलों को बढ़ावा देना बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि इस दिशा में जेजेपी निरंतर ग्रामीण क्षेत्र में ऐसी प्रतियोगिताएं करवाती रहेगी। अजय चौटाला ने कहा कि खेलों की कड़ी में ही क्रिकेट के बाद सिरसा में अब कबड्डी प्रतियोगिता भी करवाई जाएगी ताकि युवाओं को नशे से दूर रखा जा सके। उन्होंने कहा कि जेजेपी सामाजिक सरोकारों को निभाने वाली पार्टी है और समय-समय पर इस तरह की मुहिम जेजेपी ने पहले भी चलाई है और भविष्य में भी इसे जारी रखा जाएगा। फाइनल मुकाबले के दिन भारतीय तेज गेंदबाज इशांत शर्मा गांव चौटाला पहुंचे और खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाया और उन्होंने इस ग्रामीण प्रतियोगिता की सराहना की। उन्होंने कहा कि वैश्विक स्तर पर यह पहला ही ग्रामीण खेल टूर्नामेंट है जिसका उद्देश्य युवाओं को नशे से दूर रखते हुए उन्हें खेलों के प्रति प्रोत्साहित करना है।

राज्यसभा सांसद कार्तिकेय शर्मा ने भी खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाया और कहा कि जेजेपी द्वारा ग्रामीण आंचल में करवाई गई यह क्रिकेट प्रतियोगिता सही मायने में युवाओं के हित में है और यह नशे के खिलाफ बड़ी मुहिम है। उन्होंने कहा कि वे भी युवाओं को खेलों के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए सदैव तत्पर रहेंगे। सांसद कार्तिकेय शर्मा ने कहा कि हरियाणा के युवाओं में किसी भी तरह से प्रतिभा की कमी नहीं है, बस आवश्यकता है उन्हें उचित मंच देने की। उन्होंने कहा कि जननायक चौधरी देवीलाल के दिखाए राह पर चलते हुए दिग्विजय चौटाला प्रदेश के खिलाड़ियों को खेलों का उचित मंच उपलब्ध करवा रहे है, जो कि सराहनीय है। कार्तिकेय शर्मा ने यह भी कहा कि प्रदेश की गठबंधन सरकार भी पूरी तरह से नशे के खात्मे के लिए कार्य कर रही है और खेलों को बढ़ावा दे रही है।

जेजेपी प्रधान महासचिव दिग्विजय सिंह चौटाला ने विजेता-उपविजेता टीम को शुभकामनाएं दी और कहा कि हारने वाली टीमों को भी निराश होने की जरूरत नहीं है बल्कि वे हार से सीखकर आगे बढ़े और कड़ी मेहनत करें। दिग्विजय चौटाला ने टूर्नामेंट की सफलता के लिए सभी खिलाड़ियों, ग्रामीणों, मुख्य अतिथियों और कलाकारों का आभार व्यक्त किया। इस प्रतियोगिता में ग्रामीण क्षेत्र की 200 से ज्यादा टीमों ने भाग लिया। फाइनल मुकाबला गांव करीवाला और मंगालिया के बीच हुआ जिसमें करीवाला के खिलाड़ियों ने दमदार प्रदर्शन कर विजेता बनने का अवसर प्राप्त किया और तीन लाख रुपए का प्रथम पुरस्कार हासिल किया। गांव मंगालिया को उपविजेता बनने का गौरव हासिल हुआ। प्रतियोगिता में मैन ऑफ सीरीज रहे खिलाड़ी को बुलेट बाइक देकर सम्मानित किया गया। प्रतियोगिता के समापन अवसर पर प्रसिद्ध कलाकार प्रेम ढिल्लों, गगन कोकरी, अल्फाज, सुक्खी आदि ने भी अपने अपने अंदाज में शानदार प्रस्तुतियां दी।