logo

सचिव कार्यालय में अटकी सोसायटी मर्जिंग की फाइल: नरसिंह परमार

मुख्यमंत्री से भी तीन बार मिल चुका है प्रतिनिधिमंडल
 
 
सचिव कार्यालय में अटकी सोसायटी मर्जिंग की फाइल: नरसिंह परमार
WhatsApp Group Join Now

सिरसा। सोसायटी मोड में खोले गए 11 पॉलीटेक्निक कॉलेजों को राजकीय बहुतकनीकी संस्थानों में समायोजित करने का मसला लटकता जा रहा है। तीन वर्ष से चल रही विलय की कवायद अब सचिव कार्यालय में आकर अटक गई है। इस विलय के मुद्दे को लेकर पटवा प्रधान नरसिंह परमार मुख्य मंत्री के निवास स्थान हरियाणा भवन दिल्ली में मिले और इस मुद्दे पर बातचीत हुई। पॉलीटेक्निक टीचर वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान नरसिंह परमार ने बताया कि सोसायटी पॉलीटेक्निक के स्टाफ  के विलय की सारी बाधाएं दूर हो चुकी हैं। 18 अक्तूबर को दोनों एसोसिएशन की आनंद मोहन शरण अतिरिक्त मुख्य सचिव, उच्चतर शिक्षा विभाग हरियाणा की अध्यक्षता में सोसायटी पॉलीटेक्निक को सरकारी में विलय करने पर सहमति बनी थी।

दोनों एसोसिएशन के प्रधान ने सहमति को लिखित में भी दिया है। इसके बावजूद लगभग तीन महीने बीत जाने के बाद भी विलय की फाइल को मुख्य सचिव कार्यालय से मंजूरी का इंतजार है। मंजूरी के बाद नोटिफिकेशन के लिए फाइल को उच्चतर शिक्षा विभाग के तकनीकी शिक्षा विभाग में भेजा जाना है।

सोसायटी पॉलीटेक्निक का स्टाफ  नए साल से पहले विलय के नोटिफिकेशन के उपहार का इंतजार कर रहा है। यह इंतजार फिलहाल बिना कारण लंबा खिंचता दिख रहा है। ज्ञात रहे कि इस सिलसिले में नरसिंह परमार मुख्यमंत्री के प्रिंसिपल सेक्रेटरी राजेश खुल्लर एवं ओसडी भूपेश्वर दयाल से उनके निवास स्थान चंडीगढ़ पर सात दिसंबर को भी मिल चुके हैं।