logo

स्वतंत्रता संग्राम में बलिदान देने वाले शहीदों की याद में रखा दो मिनट का मौन

 
स्वतंत्रता संग्राम में बलिदान देने वाले शहीदों की याद में रखा दो मिनट का मौन
WhatsApp Group Join Now

सिरसा। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि व स्वतंत्रता संग्राम में बलिदान देने वाले शहीदों की याद में मंगलवार को स्थानीय लघु सचिवालय के प्रांगण में अधिकारियों व कर्मचारियों ने दो मिनट का मौन धारण किया। अतिरिक्त उपायुक्त डा. विवेक भारती ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी अपने जीवनकाल में अपने विचारों और सिद्धांतों के कारण चर्चित रहे। मोहनदास कर्मचंद गांधी का नाम दुनिया भर में सम्मान से लिया जाता है। महात्मा गांधी सत्य और अहिंसा के पुजारी थे। उन्होंने देश को बिना हथियार उठाए अहिंसा के रास्ते पर चल कर आजादी दिलवाई। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद देश की सरहदों को सुरक्षित रखने के लिए देश के वीर सैनिकों ने अपने प्राण न्योछावर कर दिए, उनके योगदान व कर्ज को कभी भी भुलाया नहीं जा सकता।


उन्होंने कहा कि आजादी हासिल करने के लिए हमें एक लंबा संघर्ष करना पड़ा। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, डॉ.राजेंद्र प्रसाद, पंडित जवाहरलाल नेहरू, सरदार वल्लभ भाई पटेल, डॉ. भीमराव अंबेडकर, मौलाना अबुल कलाम आजाद, शहीद-ए-आजम सरदार भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव, चंद्रशेखर आजाद और उधम सिंह जैसे अनेक महान स्वतंत्रता सेनानियों ने जेलों में अंग्रेजों की अमानवीय यातनाएं सही और अमूल्य बलिदान दिए। उन्हीं के बलिदान व त्याग की बदौलत आज हम आजादी की खुली हवा में सांस ले रहे हैं।