logo

पदक विजेता बेटी को फूलकां के ग्रामीणों ने बिठाया पलकों पर

स्कूली फुटबाल प्रतियोगिता में हरियाणा टीम को दिलाया सिल्वर पदक, ग्रामीण ने गर्मजोशी से किया स्वागत
 
पदक विजेता बेटी को फूलकां के ग्रामीणों ने बिठाया पलकों पर
WhatsApp Group Join Now

सिरसा। गत दिनों बिहार में हुई नैशनल स्कूल प्रतियोगिता में हरियाणा की महिला टीम ने दमदार प्रदर्शन करते हुए द्वितीय स्थान हासिल किया। इस उपविजेता टीम में सिरसा जिला कीे बेटी भावना ने उम्दा प्रदर्शन किया। गत दिवस इस होनहार बेटी का गांव पहुंचने पर गर्मजोशी से स्वागत किया गया। खुली कार से भावना को काफिले के साथ गांव में लाया गया। ढोल-नगाड़ों की थाप और भक्तिमय गीतों की धुनों के बीच उनका काफिला गांव से होकर उनके घर तक पहुंचा। काफिले में बड़ी संख्या में युवा शामिल हुए।


कोच हरमीत ङ्क्षसह ने बताया कि गत दिनों बिहार राज्य के सपरा जिले में स्कूली नेशनल खेल प्रतियोगिता हुई, जिसमें अंडर-19 आयुवर्ग में हरियाणा की महिला फुटबॉल टीम उपविजेता बनी। हरियाणा की ओर से सिरसा जिला की बेटी भावना ने टीम में शानदार खेल का प्रदर्शन किया।

फूलकां के श्रीराम स्कूल की 11 वीं कक्षा की छात्रा भावना का गत दिवस गांव पहुंचने पर भव्य स्वागत किया गया। इससे पूर्व श्री गौशाला प्रांगण में आयोजित कार्यक्रम दौरान गणमान्य लोगों ने फूलों की माला पहनाकर होनहार बेटी को आशीर्वाद दिया। इस दौरान गौशाला प्रधान रविंद्र सिंह कुलडिय़ा ने कहा कि भावना बेटी ने छोटी सी उम्र में इतनी बड़ी उपलब्धि हासिल कर गांव ही नहीं, अपितु जिला व प्रदेश में आने मां-बाप का नाम रोशन किया है, पूरे गांव को उस पर गर्व है। उन्होंने कहा कि आज समय बदल रहा है, बेटियां भी शिक्षा के साथ-साथ खेलों में नित नए कीर्तिमान स्थापित कर रही हैं। इस अवसर पर श्रीराम स्कूल के एमडी पवन कुलडिय़ा, कोच हरमीत सिंह, आत्माराम कुलडिय़ा, संदीप कुलडिय़ा, सरपंच कैलाश राठी, उपप्रधान जयचंद कूकना, सत्यनारायण शर्मा, राकेश भाट, सत्यनारायण कुलडिय़ा, केसरी छिम्पा, रामस्वरूप छिम्पा, राकेश छिम्पा, प्रिंस अरोड़ा, लक्ष्मण सेरडिय़ा सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।  


**वर्जन***
यह देखकर बड़ी खुशी हुई आज पूरा गांव मेरे स्वागत में खड़ा है। मेरा प्रयास रहेगा कि भविष्य में और मेहनत करते हुए इंटरनेशनल स्तर पर अपनी टीम को पदक दिलाऊ, ताकि समाज में एक संदेश जाए कि बेटियां भी किसी से कम नहीं हैं। टीम में मैं राइट विंग की भूमिका में थी, जिसे मैंने बखूबी निभाया है।
- भावना, फुटबॉलर।