logo
दिग्विजिय सिंह ने सोनिया गाँधी की बढ़ाई मुश्किलें, अशोक गहलोत के लिए राहत भरी राह
Congress News: कांग्रेस में हमेशा से उथल पुथल बनी ही रहती है.
 
Congress News

Mhara Hariyana News: Congress News: कांग्रेस में हमेशा से उथल पुथल बनी ही रहती है. अभी हाल ही में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की और पार्टी अध्यक्ष पद के चुनाव को लेकर अच्छी खासी चर्चा की। उनकी मुलाकात से पहले उन्होंने मीडिया से ये बात कही कि पार्टी का जो भी फैसला होगा, वो उन्हें हमेशा स्वीकार करेंगे। इतना ही नहीं अशोक गेहलोत ने ये स्पष्ट भी किया कि वो पार्टी के नए अध्यक्ष पद के लिए उम्मीदवार है।


इतना ही नहीं उन्होंने ये भी कहा कि हाँ वो अलग बात है कि उनकी इच्छा को राहुल गांधी स्वीकार करेंगे या नहीं करेंगे। उन्होंने ये भी कहा कि वो कोच्चि जाकर उन्हें राजी करने का प्रयास करेंगे। और अगर वो नहीं मानते हैं तब वो खुद उम्मीदवार बनेंगे। आपकी जानकारी के लिए बता दे राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा के तहत इन दिनों केरल में हैं। इतना ही नहीं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने भी अध्यक्ष पद की दौड़ में शामिल होने की बात खुद स्वीकार की है।

उन्हें इस बात की चिंता है कि अध्यक्ष बनने पर उन पर एक व्यक्ति एक पद के तहत सीएम पद छोड़ने का दबाव बढ़ सकता है। सोनिया गांधी से मुलाकात के पीछे उनकी यह चिंता ही सबसे बड़ी वजह बताई जा रही है।

अशोक गहलोत को सता रहा है भय
दरअसल पार्टी सूत्रों का ये कहना है कि अध्यक्ष पद की भूमिका के लिए अशोक गहलोत सोनिया गांधी की सबसे पसंदीदा उम्मीदवार हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दे राजस्थान की सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी में गहलोत को सबसे अधिक खतरा अपनी ही सहयोगी नेता सचिन पायलट से है। साल 2020 में वो अशोक गहलोत के खिलाफ खुलकर अपना विरोध जता चुके हैं।