logo

2017 में भाजपा ने आखिर क्यों हारी थी बापूनगर से सीट, यह है उसकी बड़ी वजह है

Why did the BJP lose the seat from Harish ji Bapu Nagar in 2017 because the main reason for this is the seat.
 
Why did the BJP lose the seat from Harish ji Bapu Nagar in 2017 because the main reason for this is the seat.

Mhara Hariyana News

गुजरात की बापू नगर विधानसभा सीट पर इस बार भाजपा जीत के लिए जीतोड़ मेहनत कर रही है, 2017 के चुनाव में यहां से भाजपा को हार का सामना करना पड़ा था, अहमदाबाद जिले की यह सीट लंबे समय बाद कांग्रेस के खाते में आई थी, पाटीदार समुदाय बहुल इस सीट पर हार जीत का फैसला पाटीदार समुदाय के लोग ही करते हैं,


2017 में इसलिए हारी थी भाजपा
बापूनगर सीट पर लंबे समय तक भाजपा का कब्जा रहा है, 2017 के विधानसभा चुनाव में पाटीदार समुदाय की नाराजगी की वजह से भाजपा के हाथ से यह सीट चली गई थी. हालांकि अब परिस्थितियां बदल चुकी हैं. 2022 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने पाटीदार समुदाय को खुश करने के लिए जहां भूपेंद्र पटेल को विजय रुपाणी की जगह मुख्यमंत्री बनाया तो वहीं पाटीदार समाज के नेता हार्दिक पटेल भी कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आ चुके हैं, राजनीतिक विश्लेषक मान रहे हैं कि इस सीट भाजपा पिछली बार के मुकाबले मजबूत दिख रही है.

पाटीदार समुदाय के मतदाता हैं अधिक
अहमदाबाद जिले के अंतर्गत पड़ने वाली बापू नगर विधानसभा सीट पर सबसे ज्यादा मतदाता पाटीदार समुदाय के ही हैं, इसलिए इस सीट पर हमेशा से ही पाटीदार मतदाताओं का वर्चस्व रहा है, 2017 से पहले के चुनावों में हर बार भाजपा यहां मजबूत स्थिति में नजर आई है, लेकिन पाटीदार आंदोलन के बाद से इस सीट पर भाजपा के लिए स्थितियां विपरीत हो गईं थीं, लेकिन अब हालात फिर से सामान्य नजर आने लगे हैं.

कौन है हिम्मत सिंह पटेल
बापू नगर विधानसभा सीट से कांग्रेस विधायक हिम्मत सिंह पटेल राजस्थान से ताल्लुक रखते हैं. वह गुर्जर समुदाय से आते हैं, हालांकि उनके नाम के आगे पटेल लगा है इसके चलते बहुत से लोग उन्हें पाटीदार समुदाय से जोड़कर देखते हैं. हिम्मत सिंह पटेल अहमदाबाद के मेयर भी रह चुके हैं, लेकिन वर्तमान में बापू नगर की जनता हिम्मत सिंह पटेल से नाराज है. क्षेतीय जनता का कहना है कि 5 साल में क्षेत्र में कोई काम नहीं हुआ है, इसीलिए कांग्रेस को आगामी विधानसभा चुनाव में यहां लोगों की नाराजगी का सामना करना पड़ सकता है. हालांकि बापू नगर विधानसभा सीट पर हिम्मत सिंह के अलावा कांग्रेस के पास कोई विकल्प नहीं है.