logo

किसानों के शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने के अधिकार को छीनना चाहती है भाजपा : हैप्पी रानियां

खुद को किसानों का हितैषी बताने वाले डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला भाजपा की गोद में बैठे: हैप्पी रानियां
 
s
WhatsApp Group Join Now
पीएम मोदी ने एमएसपी गारंटी कानून बनाने का वादा किया था: हैप्पी रानियां

 सिरसा, 11 फरवरी 

आम आदमी पार्टी के जिला अध्यक्ष हैप्पी रानियां ने कहा है कि एमएसपी के मुद्दे को लेकर किसानों के दिल्ली कूच को कुचलने की तैयारी खट्टर सरकार ने कर ली है।

रविवार को यहां जारी बयान लोकतंत्र में शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने का अधिकार सभी को है। खट्टर सरकार की किसानों के ऊपर तानाशाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जब जब किसानों ने अपने हकों के लिए आवाज उठाई है, केंद्र सरकार और खट्टर सरकार ने लाठियों के दम पर किसानों की आवाज को दबाने का काम किया है।

एक बार फिर खट्टर सरकार किसानों को कुचलने की तैयारी कर रही है। किसान आंदोलन में भी हरियाणा सरकार ने किसानों को रोकने की पूरी कोशिश की थी, जिसमें सरकार विफल हुई थी। उन्होंने कहा कि देश का किसान एमएसपी की गारंटी को लेकर परेशान है। आज से तीन साल पहले लंबा आंदोलन चला जिसमें 750 से ज्यादा किसानों ने शहादत दी थी। प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों से माफी मांगते हुए तीनों काले कानून वापस लिए थे और वादा किया था कि फसलों पर एमएसपी लागू करेंगे। लेकिन अभी तक सरकार ने अपना वादा पूरा नहीं किया। अब सरकार को वही वादा याद दिलाने के लिए देश का अन्नदाता दिल्ली आना चाहता है।



उन्होंने कहा कि किसानों को रोकने के लिए हरियाणा सरकार सीमेंट की बैरिकेडिंग और कंटीली तार लगा रही है। पहले अंबाला पुलिस ने एक चेतावनी जारी करते हुए किसानों के प्रदर्शन में शामिल होने से मना किया और किसानों की प्रॉपर्टी व बैंक डिटेल मांगी। किसानों को चेतावनी दी गई कि अगर प्रदर्शन में शामिल हुए तो आपकी प्रॉपर्टी और बैंक अकाउंट सील कर दिए जाएंगे। अब कैथल पुलिस ने किसानों को चेतावनी दी है यदि प्रदर्शन में शामिल हुए तो आपका पासपोर्ट और आर्म लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि क्या भाजपा सरकार इस देश के संविधान में दिए गए शांतिपूर्ण प्रर्दशन के अधिकार को भी छीनना चाहती है। अपने आप को किसानों का हितैषी कहने वाले डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला भाजपा की गोद में बैठे हैं। दुष्यंत चौटाला को किसान विरोधी सरकार का साथ छोड़ तुरंत प्रभाव से इस्तीफा देना चाहिए। आम आदमी पार्टी किसानों की इस जायज मांग के साथ खड़ी है और खट्टर सरकार से निवेदन करती है कि किसानों को इस तरह न रोकें, किसानों की मांग को पूरा करने के लिए आपको इनका समर्थन करना चाहिए।