logo

'हत्यारों को मिट्टी में मिलाने के लिए धन्यवाद ...', जब Yogi की रैली में Poster लेकर पहुंचे Umesh Pal के समर्थक

 
'हत्यारों को मिट्टी में मिलाने के लिए धन्यवाद ...', जब Yogi की रैली में Poster लेकर पहुंचे Umesh Pal के समर्थक
WhatsApp Group Join Now

Mhara Hariyana News, Prayagraj

Umesh Pal की पत्नी जया पाल ने मंगलवार को एक Poster जारी कर अपने पति और बसपा विधायक राजू पाल के हत्यारों के खात्मे के लिए यूपी के सीएम Yogi आदित्यनाथ का आभार जताया है। सीएम Yogi मंगलवार को निकाय चुनाव के लिए प्रयागराज में प्रचार करने पहुंचे थे। इस दौरान कुछ लोग Poster लेकर पहुंचे। इसमें लिखा था, ''Umesh Pal के हत्यारों को मिट्टी में मिलाने के लिए धन्यवाद।''

जया पाल द्वारा जारी Poster में सीएम Yogi के अलावा BJP विधायक सिद्धार्थनाथ सिंह की भी फोटो थी। इस Poster में Umesh Pal, जया पाल और राजू पाल की भी फोटो लगाई गई थी। Poster में लिखा था, ''बुलडोजर बाबा जिंदाबाद, सिद्धार्थनाथ सिंह जिंदाबाद।''

इतना ही नहीं जया पाल के नाम एक Poster सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रहा है। इसमें जया पाल द्वारा स्थानीय निकाय चुनावों में BJP को समर्थन देने की अपील की गई है। इस Poster में लिखा है, Yogi जी ने जो कहा था, उन्होंने कर दिखाया। उन्होंने माफिया को मिट्टी में मिला दिया। 

 Umesh Pal की पत्नी जया पाल ने इस वायरल Poster को लेकर यूपीतक से बातचीत की। इस दौरान उन्होंने कहा, नगर निकाय चुनाव में जहां-जहां BJP प्रत्याशी लड़ रहे हैं, उन सभी प्रत्याशियों के सामने कमल के बटनों को दबाते हुए उन्हें विजयी बनाएं। जिससे बाबा जी (Yogi आदित्यनाथ) की सरकार फिर से बन सके। इससे समाज में माफियागिरी खत्म होगी।

4 फरवरी को हुई थी Umesh Pal की हत्या
4 फरवरी को प्रयागराज की सड़कों पर दिनदहाड़े Umesh Pal और उसके दो गनर्स की हत्या कर दी गई थी। Umesh Pal 19 साल पहले हुए राजू पाल Murder का मुख्य गवाह थे। इस केस में अतीक और अशरफ मुख्य आरोपी थे।

Umesh Pal की पत्नी ने अतीक, अशरफ, शाइस्ता समेत 9 लोगों पर मामला दर्ज कराया था। पुलिस ने Murder में शामिल शूटरों की पहचान असद, अरमान, गुलाम, गुड्डू मुस्लिम और साबिर के तौर पर की थी।

चार आरोपियों का एनकाउंटर, दो की हुई हत्या
27 फरवरी को पुलिस ने Murder में शूटरों द्वारा इस्तेमाल क्रेटा कार चलाने वाले अरबाज को ढेर कर दिया था। यह कार अरबाज के घर के बाहर मिली थी।

इसके बाद 6 मार्च को पुलिस ने उमेश पर पहली गोली चलाने वाले शूटर विजय कुमार उर्फ उस्मान चौधरी का एनकाउंटर कर दिया था। 13 अप्रैल को यूपी STF ने झांसी में असद और गुलाम को एनकाउंटर में ढेर कर दिया था। 

इसके दो दिन बाद यानी 15 अप्रैल को देर रात प्रयागराज के काल्विन हॉस्पिटल के बाहर अतीक और उसके भाई की गोली मारकर हत्या कर दी गई। पुलिस घेरे में इस दोहरे Murder को अरुण मौर्या, सनी और लवलेश तिवारी ने अंजाम दिया।

तीनों पत्रकार बनकर पुलिस के काफिले के नजदीक पहुंचे और जैसे ही अतीक और उसके भाई अशरफ ने मीडिया से बात करना शुरू की, तीनों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। इस दौरान करीब 18 राउंड गोलियां चलीं, जिनमें से 8 गोली अतीक अहमद को लगीं। दोनों की मौके पर ही मौत हो गई।