logo
अफगानिस्तान में बढ़ता आतंकी नेटवर्क दुनिया के लिए खतरा ​​​​​​​
ट्रंप के पूर्व सलाहकार ने जताई चिंता, पाक PM ने SCO की बैठक में उठाया मुद्दा
 
 
अफगानिस्तान में बढ़ता आतंकी नेटवर्क दुनिया के लिए खतरा

Mhara Hariyana News


अमेरिकी नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल (US National Security Council)के पूर्व सलाहकार जॉन बोल्टन ने अफगानिस्तान में बढ़ते आतंकी नेटवर्क पर चिंता जताई है। उन्होंने एक साक्षात्कार में कहा कि अफगानिस्तान में आईएसआईएस और अलकायदा जैसे आतंकी संगठनों का नेटवर्क तेजी से बढ़ रहा है, यह न सिर्फ अफगानिस्तान बल्कि पूरी दुनिया के लिए खतरे का विषय है। पूरी विश्व को इस बारे में विचार करना चाहिए।

तालिबान की भी आलोचना की
जॉन बोल्टन ने अंतरराष्ट्रीय आंतकी संगठनों के साथ सांठगांठ के लिए तालिबान की भी आलोचना की है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि कैसे तालिबान ने पिछले साल अगस्त में काबुल पर कब्जा करने के बाद से आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए दोहा समझौते की आवश्यकताओं की अवहेलना की है।

बोल्टन ने कहा कि तालिबान ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि उनके शब्द उस कागज के लायक नहीं हैं, जिस पर वे छपे हैं। उन्होंने न केवल अफगानिस्तान में, बल्कि दुनिया भर में खतरा पैदा कर दिया है।

SCO की बैठक में पाकिस्तानी पीएम ने उठाया था मुद्दा
इससे पहले पाक PM शाहबाज शरीफ ने SCO की बैठक में अफगानिस्ता की स्थिति को लेकर चिंता जताई थी। उन्होंने कहा कि इस समय अफगानिस्तान को नजरअंदाज करना सही नहीं होगा। ये बहुत बड़ी गलती हो सकती है, क्योंकि पाकिस्तान और अफगानिस्तान की शांति आपस में जुड़ी हुई है।

अफगानिस्तान के मुद्दे पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा- अफगानिस्तान हमारा पड़ोसी देश है। अफगानिस्तान में शांति पाकिस्तान में शांति सुनिश्चित करेगी। दूसरे शब्दों में कहूं तो जो अफगानिस्तान के लिए अच्छा है वो पाकिस्तान के लिए अच्छा होगा। अफगानिस्तान में शुरू होने वाली सभी अच्छी पहलों का दुनिया को समर्थन करना चाहिए। हमें मिलकर काम करना चाहिए। अगर इस समय अफगानिस्तान को नजरअंदाज कर दिया तो ये बहुत बड़ी गलती होगी।