logo

चीन से सटी एलएसी पर मजबूत होगा भारत का तोपखाना, तैयार किया खाका

India's artillery will be strong on the LAC adjacent to China, the blueprint prepared
 
चीन से सटी एलएसी पर मजबूत होगा भारत का तोपखाना, तैयार किया खाका
WhatsApp Group Join Now

Mhara Hariyana News

पूर्वी लद्दाख से सटी एलएसी (LAC) पर भले ही भारत-चीन (India-China) के बीच डिसइंगेजमेंट हो गया हो लेकिन अभी विवाद खत्म नहीं हुआ है. ऐसे में भारतीय सेना ने एलएसी पर अपनी आर्टिलरी यानि तोपखाने (Artillery) की क्षमताओं को बढ़ाने का प्लान तैयार किया है. एबीपी न्यूज को मिली खास जानकारी के मुताबिक इस प्लान में कई काम किए जाने हैं. 

1. एलएसी पर तैनात करने के लिए 100 अतिरिक्त 'के-9 वज्र' तोप खरीदी जाएंगी. रक्षा मंत्रालय से इन तोपों को खरीदने की मंजूरी मिल गई है.

2. पिनाका मल्टी-बैरल रॉकेट लॉन्चर सिस्टम की छह (06) रेजीमेंट एलएसी पर तैनात की जाएंगी. एक को पहले ही अरूणाचल प्रदेश से सटी सीमा पर तैनात कर दिया गया है.

3. स्वदेशी तोप धनुष की पहली रेजीमेंट को पूर्वी लद्दाख में तैनात कर दिया गया है. आने वाले समय धनुष की और रेजीमेंट यहां तैनात की जाएंगी. 


4. स्वदेशी 'स्वाथी' वैपन लोकेटिंग रडार को भी किया गया एलएसी पर तैनात

एससीओ मीटिंग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की बैठक ना होने से साफ है कि एलएसी पर चलने वाला ये विवाद लंबा खिच सकता है. साथ ही पूर्वी लद्दाख से सटी एलएसी पर मई 2020 के बाद वाले विवादित इलाकों में तो डिसइंगेजमेंट हो गया है लेकिन डेप्सांग प्लेन और डेमचोक को लेकर कोई फैसला नहीं हो पाया है. 

एलएसी पर अपनी क्षमताएं बढाएगी सेना?
इसके अलावा अभी भी पूर्वी लद्दाख से सटी लाइन ऑफ एक्युचल कंट्रोल (एलएसी) पर चीन के 60 हजार सैनिकों के साथ साथ पीएलए के टैंक, तोप और मिसाइलों का एक बड़ा जखीरा तैनात हैं. चीन अभी भी एलएसी पर डि-एस्कलेशन और डि-इंडक्शन के लिए तैयार नहीं है. ऐसे में भारतीय सेना भी एलएसी पर अपनी सैन्य क्षमताओं को बढ़ाने में जुट गई है. 

एबीपी न्यूज को एलएसी (LAC) पर सेना (Indian Army) की आर्टिलरी की क्षमताओं को विकसित करने के प्लान को देश के रक्षा तंत्र के सूत्रों ने साझा किया है. यही वजह है कि भारतीय सेना (Indian Army) ने चीन (China) से सटी एलएसी (LAC) पर कमर कसने का खाका तैयार कर लिया है.


Tags:
LAC
Defence News
China