logo

Boris Johnson पर संसद को गुमराह करने का आरोप: ब्रिटेन के पूर्व PM ने कहा, ऐसा जानबूझकर नहीं किया

Boris Johnson accused of misleading Parliament: Former UK PM said, did not do it intentionally
 
Boris Johnson पर संसद को गुमराह करने का आरोप: ब्रिटेन के पूर्व PM ने कहा, ऐसा जानबूझकर नहीं किया
WhatsApp Group Join Now

Mhara Hariyana News, New Delhi।

ब्रिटेन में पार्टीगेट केस को लेकर आज पूर्व प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन Boris Johnson से पूछताछ होगी। जॉनसन Boris Johnson  ने कोविड के दौरान डाउनिंग स्ट्रीट में पार्टी की थी। बाद में मामला सामने आया तो संसद को सही जानकारी नहीं दी। अब जॉनसन Boris Johnson  ने माना है कि उन्होंने संसद को गुमराह किया। हालांकि, उन्होंने ये भी कहा कि ये गलती अनजाने में हुई। वो जानबूझकर ऐसा नहीं कर सकते।

बोरिस Boris Johnson  ने 52 पेज की फाइल जांच कमेटी को सौंपी। इसमें कहा- मैंने जानबूझकर या लापरवाही से 1 दिसंबर 2021, 8 दिसंबर 2021 या किसी और तारीख पर संसद को गुमराह नहीं किया था। मैंने सिर्फ वहीं कहा जो मेरे वकील ने मुझे लिखकर दिया था। इसके अलावा जो आरोप हैं वो बेबुनियाद हैं।

क्या है पार्टीगेट घोटाला?
दरअसल, साल 2020 में पूरी दुनिया में कोरोना के चलते पाबंदियां लगी हुई थीं। ब्रिटेन में भी लॉकडाउन के साथ हर तरह की गैदरिंग्स पर रोक थी। तब जॉनसन ने अपने 56वें बर्थडे पर डाउनिंग स्ट्रीट में शराब-पार्टी की थी। ये पार्टी उनकी पत्नी ने रखी थी। इसमें PM ऋषि सुनक के साथ ही कंजर्वेटिव पार्टी के कई बड़े नेता मौजूद थे।

जब ये मामला संसद में उठा था तो जॉनसन Boris Johnson  ने सभी आरोपों को खारिज कर दिया था। इसके बाद उनपर 4 बार संसद को गुमराह करने के आरोप लगे। अब ब्रिटिश संसद की प्रिवलेज कमेटी इस मामले की जांच कर रही है।

संसद से सस्पेंड हो सकते हैं जॉनसन
कमेटी की जांच में अगर ये साबित हो जाता है कि जॉनसन ने जानबूझकर संसद को गुमराह किया तो उन्हें लोअर हाउस से सस्पेंड किया जा सकता है। इससे पहले पार्टीगेट केस सहित कई घोटाले के चलते ही जॉनसन को जुलाई 2022 में प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था। इस मामले में ऋषि सुनक पर भी पुलिस ने जुर्माना लगाया था।