logo

युवा पीढ़ी ही कर सकती है आने वाले कल का बेहतर निर्माण - डॉ. ढींडसा

जेसीडी शिक्षण कॉलेज में  मॉडल मेकिंग प्रतियोगिता आयोजित
 
JCD educational college
WhatsApp Group Join Now

सिरसा: जेसीडी विद्यापीठ में स्थित जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय में  साइंस क्लब  के तत्वावधान में मॉडल एवं प्रोजेक्ट मेकिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें कॉलेज के विद्यार्थियों ने अपनी-अपनी कला का प्रदर्शन करके प्रतिभा प्रदर्शित की। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि जेसीडी विद्यापीठ के महानिदेशक एवं अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त वैज्ञानिक प्रोफेसर डॉक्टर कुलदीप सिंह ढींडसा थे तथा कार्यक्रम की  अध्यक्षता जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. जयप्रकाश द्वारा की गई। वहीं इस कार्यक्रम का आयोजन कॉलेज साइंस प्रवक्ता  प्रीति  के मार्गदर्शन में किया गया। इस प्रतियोगिता का विषय 'क्लीन इंडिया, ग्रीन इंडिया ' रखा गया ताकि स्वच्छता का संदेश विद्यार्थियों को प्रदान किया जा सके। इस कार्यक्रम में जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय  की 4 टीमों ने हिस्सा लेकर अपनी कला प्रदर्शित की।            

        इस मौके पर प्रोफेसर डॉक्टर कुलदीप सिंह ढींडसा ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए  कहा कि आज की युवा पीढ़ी यानि विद्यार्थी ही आने वाले कल का निर्माता है तथा स्वच्छ भारत का स्वप्न ये ही आगे आकर पूर्ण कर सकते हैं इसलिए उन्हें ऐसी अनेक गतिविधियों में हिस्सा लेना चाहिए। उन्होंने अपने संबोधन में जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय में इस प्रकार के आयोजनों हेतु कॉलेज के प्राचार्य डॉ. जय प्रकाश और स्टाफ का आभार प्रकट करते हुए कहा कि इन कार्यक्रमों की आज के युवाओं को जागरूक करने हेतु आवश्यकता है। उन्होंने कहा विज्ञान में प्रोजेक्ट कार्य करने से विद्यार्थियों को वास्तविक वैज्ञानिकों जैसा काम करने का मौका मिलता है। इस तरह के कार्यक्रम विद्यार्थियों में विज्ञान और प्रौद्योगिकी के प्रति रुचि को बढ़ावा देने में सहायक होते हैं तथा विद्यार्थियों  को रुचि के साथ नए तथ्यों और आविष्कारों को सीखने में भी सहायता करते हैं  ।

       इस मौके पर विद्यार्थियों का हौंसलाफजाई करते हुए प्राचार्य डॉ. जय प्रकाश ने कहा कि इस प्रतियोगिता का विषय विज्ञान विषय पर रखा गया था जिसमें विद्यार्थियों ने बढ़ चढ़ कर भाग लिया। उन्होंने कहा कि विज्ञान विषय में धैर्य के साथ-साथ दृढ़ता की भी आवश्यकता होती है। विज्ञान विषय विद्यार्थियों को समस्या-समाधान, संचार और अनुसंधान जैसे कौशल विकसित करने में मदद करता है । वहीं उन्होंने विद्यार्थियों को प्रेरित किया कि वे अपने संस्थान के अलावा अपने आस-पड़ोस एवं अन्य स्थानों को भी साफ-सुथरा रखें ताकि हम अनेक बीमारियों से बच सकें। उन्होंने कहा कि स्वच्छता एवं प्रगति दोनों ही एक ही सिक्के के पहलू हैं तथा यह भविष्य के लिए भी अति आवश्यक है। 

       इस प्रतियोगिता में सभी विद्यार्थियों ने टीम बनाकर अपने-अपने तरीके से स्वच्छ भारत की तस्वीर मॉडल के माध्यम से प्रस्तुत की, जिसमें  जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय की सी टीम ने स्वच्छता को दिखाते हुए प्रगतिशील भारत की छवि को प्रस्तुत करके प्रथम  स्थान अर्जित किया। उधर  कॉलेज की बी टीम ने स्वच्छ भारत की वर्तमान में तथा तत्पश्चात् की तस्वीर को अलग-अलग प्रदर्शित करके अंतर दिखाया व द्वितीय स्थान हासिल किया। वहीं  महाविद्यालय के ग्रुप ए  ने विभिन्न प्रकार के कूड़े को उसके उपयोगी कूड़ेदान के अनुसार डालने व गला-सड़ाकर उसके बेहतर प्रयोग बारे अपना मॉडल प्रस्तुत करके तृतीय स्थान हासिल किया।

        इस कार्यक्रम के अंत में सभी विजेता प्रतिभागियों को मुख्य अतिथि एवं प्राचार्य द्वारा प्रमाण-पत्र एवं पुरस्कार प्रदान करके सम्मानित किया गया। इस अवसर पर जेसीडी शिक्षण महाविद्यालय के प्रोफेसर डॉक्टर राजेंद्र कुमार  , डॉक्टर सतनारायण , बलविंदर , प्रीति, मदन लाल  के अलावा अन्य प्राध्यापकगण, स्टाफ एवं विद्यार्थीगण के अलावा अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे।