logo

उज्जैन के महाकाल लोक की तर्ज पर बनेगा प्राचीन शनिदेव मंदिर का प्रवेश द्वार

पिछले 11 महीने से चल रहा है 245 वर्ष पुराने ऐतिहासिक शनिदेव मंदिर का जीर्णोंद्धार कार्य
 
The entrance of the ancient Shani Dev temple will be built on the lines of Ujjain's Mahakal Lok
WhatsApp Group Join Now

Mhara Hariyana News, Sirsa

सिरसा। नोहरिया बाजार स्थित प्राचीन शनिदेव मंदिर का जीर्णोंद्धार कार्य निरंतर जारी है। अब मंदिर निर्माण के तीसरे चरण में मुख्य प्रवेश द्वार का निर्माण शुरू होगा। मंदिर का भव्य प्रवेश द्वार (मेन गेट) उज्जैन के प्रख्यात महाकाल लोक की तर्ज पर बनाया जाएगा। मंदिर निर्माण में शहरवासियों के द्वारा भरपूर सहयोग दिया जा रहा है।
मंदिर के पुजारी आनंद भार्गव व चंद्रमोहन भृगुवंशी ने बताया कि सिरसा के ऐतिहासिक 245 वर्ष पुराने शनिदेव मंदिर का जीर्णोद्धार कार्य बीते वर्ष 13 सितंबर को शुरू हुआ था। मंदिर के निर्माण कार्य में सिरसावासियों का भरपूर सहयोग मिल रहा है। जल्द ही शहरवासियों को भव्य मंदिर के दर्शन होंगे।
मंदिर पुजारी दीपक भार्गव ने बताया कि मंदिर में भगवान शनिदेव का दरबार आकर्षण का केंद्र होगा, जिसमें शनिदेव जी के नौ वाहनों पर सवार स्वरूप, शनि शिला तथा नवग्रह शामिल होंगे। मंदिर में शिवालय का स्वरूप भी नया तैयार किया जा रहा है। इसके साथ ही मंदिर में भगवान राम का दरबार भी स्थापित होगा।
मंदिर में श्रद्धालुओं की पूजा में उपयोगी पुष्प व पत्तों इत्यादि के विशेष वृक्षों व पौधों पर आधारित ग्रीन जोन बनाया जाएगा। जिसमें त्रिवेणी, तुलसी, केला, आक, बेलपत्र, शमी पत्र, दुर्वा इत्यादि लगाए जाएंगे।  
मंदिर पुजारी ने बताया कि मंदिर के मुख्य गर्भगृह में भगवान शनिदेव जी की अति प्राचीनतम प्रतिमा विराजित है जो कि पश्चिम मुखी और अति प्रसन्न मुद्रा में शुभ फलदायी है। मंदिर के प्रति लोगों में गहरी आस्था है और हर शनिवार को हजारों शनिभक्त यहां आते हैं।